2022 गणतंत्र दिवस पर निबंध | Republic Day Essay In Hindi

Republic Day Essay In Hindi


गणतंत्र दिवस पर निबंध (26 जनवरी पर निबंध)

गणतंत्र दिवस हमारे देश का एक महत्वपूर्ण राष्ट्रीय त्योहार है। इसे हर वर्ष 26 जनवरी को देश भर में मनाया जाता है। इस तारीख को 1950 ई० में हमारे स्वतंत्र देश का संविधान लागू हुआ और 'राष्ट्रपति' के पद को सर्वोच्च शक्ति के रूप में स्वीकार किया गया। इस तिथि से हमारा देश स्वतंत्र गणराज्य के रूप में स्थापित हुआ।

वर्षों की गुलामी के बाद जब हमारा देश स्वतंत्र हुआ, तो 15 अगस्त को हर वर्ष 'स्वतंत्रता दिवस' के रूप में मनाया जाने लगा। साथ ही, यहाँ की शासन व्यवस्था को चलाने के लिए नियम और कानूनों की आवश्यकता महसूस हुई। कई विद्वानों ने लम्बे समय तक मेहनत करने के बाद 'भारतीय संविधान' को तैयार किया। इस संविधान को 26 जनवरी, 1950 को लागू किया गया। 26 जनवरी के दिन को ही इस कार्य के लिए चुनने का कारण था कि इसी तिथि को 1929 ई० में लाहौर के काँग्रेस अधिवेशन में नेहरूजी एवं अन्य नेताओं के द्वारा पूर्ण स्वराज की घोषणा की गयी थी। 

26 जनवरी, 1950 को संविधान लागू होने के साथ हमारे देश में गणतंत्रात्मक शासन व्यवस्था को अपनाया गया। इसके अनुसार देश की जनता को अपनी पसंदीदा सरकार चुनने तथा सत्ता में भागीदारी का अधिकार दिया गया। इसलिए इस पावन दिवस को हर वर्ष 'गणतंत्र दिवस' के रूप में मनाया जाता है। यह दिन हमें अपने देश के विकास हेतु जागृत करता है, क्योंकि संविधान ने देश का शासन हमारे ही हाथों में सौंपा है। 

देश भर के सरकारी एवं निजी कार्यालयों और सार्वजनिक स्थलों पर इस दिन तिरंगा झंडा फहराया जाता है, राष्ट्र-गान होता है और इसकी महत्ता को समझा और समझाया जाता है। इस दिन दिल्ली में लाल किले पर राष्ट्रति द्वारा झंडा फहराया जाता है और देश की सैन्य-शक्ति का प्रदर्शन झाँकी के रूप में होता है। लोग आपस में मिठाइयाँ बाँटते हैं और इस राष्ट्रीय पर्व के अवसर पर गौरवान्वित होते हैं। शाम को सूर्यास्त के पहले झंडों को हर जगह से श्रद्धापूर्वक उतार लिया जाता है। रात्रि में जगह-जगह सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन होता है, जहाँ राष्ट्रीय भावना से ओत-प्रोत गीत-संगीत और प्रहसन आदि का मंचन होता है। यह दिन हम भारतवासियों को रोमांचित तथा स्फूरित करता है।

यह दिवस हर वर्ष हमें याद दिलाता है कि देश के शासन की बागडोर यहाँ की जनता के हाथों में है। देश का विकास और साफ सुथरी शासन व्यवस्था, हम भारतवासियों की जिम्मावारी है। अतः हमारा कर्तव्य बनता है कि देश की एकता, अखण्डता और प्रभुसत्ता की रक्षा के लिए हम प्रयासरत रहें।

इन्हें भी पढ़े:-

0 Response to "2022 गणतंत्र दिवस पर निबंध | Republic Day Essay In Hindi"

Post a Comment