पुनरुक्त शब्द क्या है? परिभाषा, प्रकार और उदाहरण

Punarukti Shabd In Hindi

इस आर्टिकल में हम हिन्दी व्याकरण के पुनरुक्त शब्द के बारे में विस्तार से समझेंगे। यहा हम पुनरुक्त से सम्बंधित लगभग सभी महत्वपुर्ण प्रश्नों के उत्तर जानेंगे जिससे की, आपको इसे समझने मे असानी हो। प्रतियोगीता परीक्षा की दृष्टिकोण से देखे तो, पुनरुक्त शब्द काफी महत्वपुर्ण है क्योकी इससे सम्बंधित बहुत से प्रश्न विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में पुछे जाते है। तो, अगर आप किसी कॉम्पिटिटिव एग्जाम एवं सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहे है। तो पुनरुक्त शब्द को आप अच्छे से ध्यानपूर्वक अवश्य पढ़े क्योकी इससे आपको परीक्षा में काफी मदद मिल सकती है। 

इस लेख में पुनरुक्त शब्द से सम्बंधित उन सभी प्रश्नों को सामिल किया गया है जो अकसर परीक्षाओं में पुछे जाते है जैसे की - पुनरुक्त शब्द की परिभाषा, पुनरुक्त शब्द का अर्थ क्या होता है, पुनरुक्त शब्द के कितने भेद होते हैं, पुनरुक्ति शब्द का उदाहरण कौन सा है आदि। इन सभी प्रश्नों के उत्तर आपको यहा पर एकदम विस्तार से देखने को मिल जायेंगे, इसलिए आप इस लेख को पुरा अन्त तक जरुर पढ़े। आइये अब हम Punarukti Shabd In Hindi अच्छे से समझे।

नोट -- यदि आप हिंदी व्याकरण के पूर्ण नोट्स को विस्तार से पढ़ना चाहते हैं, तो आप यहाँ पढ़ सकते हैं  📚 सम्पुर्ण हिन्दी व्याकरण नोट्स

पुनरुक्ति किसे कहते हैं (Punarukti Shabd Kya Hota Hai)

परिभाषा -- पुनः + उक्ति से बना है – पुनरुक्ति। इसका अर्थ होता है आवृति, पुनरावृति या दोहराना। एक ही शब्द की जब दो बार पुनरावृति की जाती है, तो उसे पुनरुक्ति या द्विरुक्ति कहते हैं। इसकी सहायता से हिन्दी में बहुत सारे शब्द बने हैं।

पुनरुक्त के प्रकार

पुनरुक्त शब्द एक प्रकार के यौगिक शब्द होते हैं। इनमें कुछ शब्द सामासिक भी होते हैं। ऐसे शब्द मुख्यतः तीन प्रकार के होते हैं

(1) पूर्ण पुनरुक्त
(2) अपूर्ण पुनरुक्त
(3) अनुकरणवाचक

पूर्ण पुनरुक्त शब्द

जब कोई शब्द एक साथ लगातार दो बार प्रयुक्त होता है, तो उसे पूर्ण पुनरुक्त शब्द कहते हैं। जैसे -- कहाँ-कहाँ , कौड़ी-कौड़ी , कभी-कभी , जन-जन , जय-जय , घर-घर , चलते-चलते , बैठे-बैठे , आइए-आइए आदि।

कभी-कभी ऐसे शब्दों की पुनरुक्ति के साथ-साथ उनके बीच में 'ही' का प्रयोग होता है। जैसे -- दूध-ही-दूध , पानी-ही-पानी , साथ-ही-साथ , बातों-ही-बातों में , मन -ही-मन में आदि।

अपूर्ण पुनरुक्त शब्द

ऐसे शब्द दो सार्थक शब्दों के मेल से बनते हैं जिनमें कभी-कभी उत्तरपद निरर्थक होता है, फिर भी उत्तरपद पहले का समानुप्रास होता है। जैसे -- आमनेसामने, आसपास, उलटापुलटा, चालढाल, टालमटोल, देखभाल, पूछताछ आदि।

अनुकरणवाचक शब्द

किसी वस्तु की वास्तविक अथवा कल्पित ध्वनि को ध्यान में रखकर जो शब्द कहे जाते हैं, उन्हें अनुकरणवाचक शब्द कहते हैं। जैसे -- खटपट, गड़गड़ाहट, गुड़गुड़ाहट, गड़बड़, छमछम, दनादन, धड़ाधड़ आदि।

पशु-पक्षियों की बोलियाँ या ध्वनियाँ

पशु-पक्षियों की बोलियाँ या वस्तुओं से निकली ध्वनियाँ प्रायः अनुकरणात्मक होती हैं। ऐसी बोलियाँ या ध्वनियाँ नीचे दी गयी हैं
उल्लू घुघुआता है।
ऊँट बलबलाता है।
कबूतर गुटरगूँ करता है, गुटरता है।
कुत्ता भूँकता है।
कोयल कूकती है।
कौआ काँव-काँव करता है।
गदहा रेंकता है।
बिल्ली म्याऊँ-म्याऊँ करती है।
भालू खों-खों करता है।
सूअर किकियाता है।

अन्य वस्तुओं से निकली ध्वनियाँ

कपड़ा फड़फड़ाता है।
घड़ी टिक-टिक करती है।
चूड़ियाँ खनखनाती हैं।
दाँत कटकटाते/सलसलाते हैं।
दिल धक् धक् धड़कता है।
बिजली कड़कती, तड़कती है।
रुपये खनकते या कड़कड़ाते हैं।
हवा सनसनाती है।
शस्त्र झनझनाते हैं।
पायल छमछम करती है।

पुनरुक्त शब्दों की रचना

पुनरुक्त शब्दों की रचना मुख्यतः सार्थक शब्द की पुनरावृत्ति से होती है। जैसे --

(1) संज्ञा शब्द की पुनरुक्ति से --- गाँव-गाँव, शहर-शहर, बस्ती-बस्ती, घर-घर, द्वार-द्वार, पानी-पानी आदि।

(2) सर्वनाम शब्द की पुनरुक्ति से --- अपना-अपना, क्या-क्या, किसी-किसी, कुछ-कुछ, कोई-कोई, जो-जो आदि।

(3) विशेषण शब्द की पुनरुक्ति से --- काले-काले, गोरे-गोरे, लाल-लाल, पीला-पीला, छोटे-छोटे, मोटे-मोटे आदि।

(4) क्रिया शब्द की पुनरुक्ति से --- आइए'आइए, जाइए-जाइए, रोते-रोते, हँसते-हँसते, लिखते-लिखते, पढ़ते-पढ़ते आदि । 

(5) क्रियाविशेषण शब्द की पुनरुक्ति से --- ऊपर-ऊपर, नीचे-नीचे, आगे-आगे, पीछे-पीछे, धीरे-धीरे, जल्दी-जल्दी आदि।

(6) विस्मयादिबोधक शब्द की पुनरुक्ति से --- अरे-अरे, हाय-हाय, छिः-छिः, वाह-वाह, ऐ-ऐ, अह-अह आदि।

(7) शब्दों के बीच – का, के, ही रखने से --- गाँव-का-गाँव / गाँव-के-गाँव, शहर-का-शहर / शहर-के-शहर, आप-ही-आप , मन-ही-मन आदि।

FAQ: पुनरुक्त शब्द के कुछ प्रश्न उत्तर

प्रश्न -- पुनरुक्त शब्द का अर्थ क्या होता है?

उत्तर -- पुनरुक्त शब्द का अर्थ होता है - पुनरावृति या दोहराना। एक ही शब्द को जब दो बार दोहराया जाता है तो, वह पुनरुक्त शब्द कहलाता है जैसे की - कभी-कभी, चलते-चलते आदि।

प्रश्न -- पुनरुक्त शब्द के कितने भेद होते हैं?

उत्तर -- पुनरुक्त शब्द के तीन भेद होते है।

प्रश्न -- चलते-चलते किस शब्द का उदाहरण है?

उत्तर -- चलते-चलते पूर्ण पुनरुक्त शब्द का उदाहरण है।

प्रश्न -- आसपास किस शब्द का उदाहरण है?

उत्तर -- आसपास अपूर्ण पुनरुक्त शब्द का उदाहरण है।

पुनरुक्त शब्द PDF

नीचे दिये गए बटन पर क्लिक करके आप पुनरुक्त शब्द का पीडीएफ फ़ाईल डाउनलोड कर सकते हैं। और इस pdf फ़ाईल की सहायता से आप कभी भी जब चाहे पुनरुक्त शब्द का अध्ययन कर सकते है। पुनरुक्त शब्द PDF Download करने के लिये नीचे दिये गए बटन पर क्लिक करे और पीडीएफ को असानी से डाउनलोड करे।

निष्कर्ष

यहा पर इस लेख से हमने पुनरुक्त शब्द क्या होता है को उदहारण सहित बिल्कुल विस्तारपूर्वक से समझा। यह लेख उन विद्यार्थियों के लिये काफी उपयोगी है जो, इस समय किसी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे है। साथ ही जो छात्र कक्षा 9 से 12 तक के किसी भी क्लास के स्टूडेंट है। उनके लिये भी पुनरुक्त शब्द को समझना काफी महत्वपुर्ण एवं फायदेमंद है, क्योकी हिन्दी के परीक्षा में पुनरुक्त से सम्बंधित बहुत से प्रश्न पुछे जाते है। 

इसी के साथ हम आशा करते है की आपको यह लेख जरुर पसंद आया होगा। और हमे उमीद है की, इस लेख की सहायता से आपको Punarukti Shabd In Hindi को समझने में काफी मदद मिली होगी। अगर आपके मन में इस लेख से सम्बंधित कोई सवाल है तो, आप नीचे कमेंट कर पुछ सकते हैं। साथ ही इस Punarukti Shabd को आप अपने सभी सहपाठी एवं मित्रों के साथ शेयर जरुर करे।

हिन्दी व्याकरण के अन्य लेख पढ़े:-

भाषाशब्दवर्तनीविराम-चिन्ह
वर्णसंज्ञालिंगवचन
सर्वनामविशेषणवाक्यक्रिया
वाच्यकालउपसर्गप्रत्यय
समासपदबंधपुनरुक्तिसंधि
कारकअव्ययअलंकाररस
छन्दव्यंजनअनौपचारिक पत्रऔपचारिक पत्र
तत्सम और तद्भव शब्ददेशज और विदेशज शब्दपर्यायवाची शब्दविलोम शब्द
अनेकार्थी शब्दमुहावरेलोकोक्तियाँअनेक शब्दों के लिए एक शब्द

0 Response to "पुनरुक्त शब्द क्या है? परिभाषा, प्रकार और उदाहरण"

Post a Comment

विज्ञापन