पदबंध किसे कहते हैं? परिभाषा, भेद और उदारहण

Padbandh In Hindi

पदबंध किसे कहते हैं (Padbandh In Hindi)

पदबंध की परिभाषा -- वाक्य के उस अंश को जिसमें एक से अधिक पद परस्पर संबद्ध होकर अर्थ-बोध कराता है, उसे पदबंध कहते हैं। जैसे -- थोड़ा खानेवाला आज अधिक खा लिया।

इस वाक्य में 'थोड़ा खानेवाला' पदबंध के रूप में प्रयुक्त है, अर्थात् यहाँ दो पदों का बंधन है। पदबंध की निम्नलिखित विशेषताएँ हैं --
(क) इसमें एक से अधिक पद का होना आवश्यक है।
(ख) पदबंध एक तरह से वाक्यांश होता है।
(ग) इसमें सभी पद एक इकाई के रूप में रहते हैं।

पदबंध के कार्य

पदबंध के निम्नलिखित प्रमुख कार्य हैं

(1) यह संज्ञा का कार्य करता है। जैसे — दशरथ-पुत्र राम ने रावण को मारा।  यहाँ 'दशरथ-पुत्र राम' पद-समूह संज्ञा के रूप में कार्य कर रहा है।

(2) यह सर्वनाम का कार्य करता है। जैसे — इतना होशियार (वह) कभी सफल न हो सका।  यहाँ 'इतना होशियार (वह)' पद-समूह सर्वनाम का कार्य कर रहा है।

(3) यह विशेषण का कार्य करता है। जैसे — उस कमरे में बैठा हुआ आदमी अंधा है।  यहाँ 'उस' कमरे में बैठा हुआ' पद-समूह विशेषण का कार्य कर रहा है।

(4) यह क्रिया का कार्य करता है। जैसे — वह लड़का धीरे-धीरे चलता जा रहा है। यहाँ 'धीरे-धीरे चलता जा रहा है'
पद-समूह क्रिया का कार्य कर रहा है।

(5) यह क्रियाविशेषण का कार्य करता है। जैसे — मैंने आधी रात तक तुम्हारी प्रतीक्षा की। यहाँ 'आधी रात तक' पद-समूह क्रियाविशेषण का कार्य कर रहा है।

पदबन्ध के भेद

पदबन्ध के मुख्यतः पाँच भेद हैं
1). संज्ञा-पदबन्ध
2). सर्वनाम-पदबंध
3). विशेषण-पदबन्ध
4). क्रिया-पदबन्ध
5). क्रियाविशेषण-पदबन्ध

(1). संज्ञा-पदबन्ध

संज्ञा के रूप में प्रयुक्त पदसमूह को संज्ञा-पदबन्ध कहते हैं।
जैसे -- भारत के प्रधानमंत्री आज विदेश-यात्रा पर हैं।
इस वाक्य में 'भारत के प्रधानमंत्री ' संज्ञा-पदबन्ध है।

(2). सर्वनाम-पदबन्ध

सर्वनाम के रूप में प्रयुक्त पद-समूह को सर्वनाम-पदबन्ध कहते हैं। जैसे -- सदा सत्य बोलनेवाले (आप) असत्य कैसे बोल रहे हैं?
इस वाक्य में प्रयुक्त 'सदा सत्य बोलनेवाले (आप)' सर्वनाम-पदबंध है।

(3). विशेषण-पदबन्ध

विशेषण के रूप में प्रयुक्त पदसमूह को विशेषण पदबन्ध कहते हैं। जैसे -- तालाब में खिला हुआ फूल देखो।.
यहाँ 'तालाब में खिला हुआ' विशेषण-पदबन्ध है।

(4). क्रिया-पदबन्ध

क्रिया के रूप में प्रयुक्त पद-समूह को क्रिया-पदबन्ध कहते हैं।
जैसे -- बच्चा उछलता कूदता आ रहा है।
इस वाक्य में 'उछलता-कूदता आ रहा है' क्रिया-पदबन्ध है।

(5). क्रियाविशेषण-पदबन्ध

क्रियाविशेषण के रूप में प्रयुक्त पद-समूह को क्रियाविशेषण-पदबन्ध कहते हैं। जैसे -- वह वर्ष के अंत तक आएगा।
इस वाक्य में 'वर्ष के अंत तक' क्रियाविशेषण-पदबन्ध है। 

विभिन्न पदबंधों का शब्दक्रम

1). संज्ञा-पदबंध का शब्दक्रम --- संज्ञा पदबंध को वाक्य के आरंभ में रखा जाता है। जैसे -- दशरथ-पुत्र राम ने रावण को मार गिराया।

2). सर्वनाम-पदबंध का शब्दक्रम --- इसे लुप्त सर्वनाम के पहले रखा जाता है। जैसे -- मेहनत करनेवाला (वह) कैसे फेल हो गया?

3). विशेषण-पदबंध का शब्दक्रम --- इसे वाक्य में प्रयुक्त संज्ञा या सर्वनाम के पहले रखा जाता है। जैसे -- तालाब में खिले हुए फूल देखो।

4). क्रिया-पदबंध का शब्दक्रम --- इसे वाक्य के अंत में रखा जाता है। जैसे -- लड़का उछलता-कूदता चला गया। 

5). क्रियाविशेषण-पदबंध का शब्दक्रम --- इसे वाक्य की समापिका क्रिया (अंतिम क्रिया) के पहले रखा जाता है। जैसे -- वह आधी रात तक आया।

0 Response to "पदबंध किसे कहते हैं? परिभाषा, भेद और उदारहण"

Post a Comment