Conjunction In Hindi | Definition | Types & Examples

Conjunction in hindi

आज हम इस आर्टिकल में पार्ट्स ऑफ़ स्पीच के सातवें भाग (Conjunction) के बारे में विस्तार से पढ़ने वाले है। यहा पर हम Conjunction In Hindi से जुड़े सभी प्रश्नों को विस्तारपूर्वक समझेंगे। जैसे की Conjunction definition in hindi, types of conjunction in hindi, Conjunction meaning in hindi और conjunction के examples सभी को हम बारी-बारी से अच्छे से समझेंगे। Conjunction को हिन्दी में (संयोजन) कहते है और इसे Connecting word के नाम से भी जाना जाता है। Conjunction को विस्तार से पढ़ने के लिए इस आर्टिकल को अन्त तक पढ़ते रहिए।

इससे पहले हमने पार्ट्स ऑफ़ स्पीच के अन्य भागों पर भी आर्टिकल लिखें है। जिन्हें यदि आपने अभी नहीं पढ़ा, तो आप इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद उन सभी को भी पढ़ें। जिससे की आपको पार्ट्स ऑफ़ स्पीच के सभी भाग को समझने में आसानी हो।

What Is Conjunction In Hindi (Definition)

तो चलिए शुरुआत करते है इसके परिभाषा से और समझते है की Conjunction का मतलब क्या होता है Conjunction हम उस शब्द को कहते है जो दो words या sentence को जोड़ता है। 
अथवा
Conjunction वह शब्द है जो दो शब्दों, दो वाक्यों या दो उपवाक्यों को जोड़े। इसे connective भी कहते है।
Examples --
(i)   Do or die.
(ii)  Mohan is poor but honest.
(iii) Rakesh is just and wise.
(iv) Rohan and sameer came here.

उपर्युक्त वाक्यों में or, but, and तीनो connecting words हैं। अतः इन्हें Conjunction कहा जायेगा।
Conjunction Definition -- A 'Conjunction' is a word used to join two words, clauses or sentences.

Types Of Conjunction In Hindi

Conjunction की परिभाषा और उदाहरण को समझने के बाद अब हम बात करते है इसके प्रकार के बारे में की ये कितने प्रकार के होते है यानी की kinds of Conjunction तो ये मुख्य रुप से दो प्रकार के होते है।

1). Co-ordinating Conjunction
2). Sub-ordinating Conjunction

(1). Co-ordinating Conjunction

जो Conjunction ऐसे दो स्वतंत्र उपवाक्यों को जोड़ता है जो अपने अलग-अलग दो अर्थ रखते हैं, वह Co-ordinating Conjunction कहलाते है। जैसे --

(i). He is poor but he has a kind heart.
(ii). He was ill so he didn't come.

उपर्युक्त वाक्यों में but तथा so Co-ordinating Conjunction हैं।

Use of Co-ordinating Conjunction

इनसे बने clause को Co-ordinating clause कहते हैं। इसका अर्थ अपने से पूर्ण होता है। ये principal clause पर आश्रित नहीं होते हैं।

Types of Co-ordinating Conjunction

Co-ordinating Conjunction निम्नलिखित चार प्रकार के होते है।

(A) Cumulative Conjunctions (जोड़ बताने वाले संयोजक) --- ये एक कथन (statement) को दुसरे कथन से जोड़ने का काम करते है।

(i) He went to Agra and saw the Taj.
वह आगरा गया और ताज देखा।

(ii) He as well as his brother went there.
उसके अतिरिक्त उसका भाई भी वहाँ गया।

(iii) He is both hardworking and intelligent.
वह परिश्रमी और बुध्दिमान दोनों है।

(iv) He bought not only a book but also a pen. उसने किताब ही नहीं एक कलम भी खरीदा।

(B) Adversative Conjunctions (विरोध बताने वाले संयोजक) --- इन Conjunctions द्वारा दो ऐसे कथन जोड़े जाते हैं जो एक-दुसरे के विपरीत होते हैं। जैसे --

(i) He worked hard yet he failed.
उसने कठिन परिश्रम किया फिर भी अनुत्तीर्ण हो गया।

(ii) He is poor but he is happy.
वह निर्धन है किन्तु प्रसन्न है।

(iii) I have no money, still I can help you.
मेरे पास रुपया नहीं है इतने पर भी मैं तुम्हारी सहायता कर सकता हूँ।
इन वाक्यों में yet, but तथा still Adversative Conjunction हैं।

(C) Alternative Conjunctions (विकल्प चुनने वाले संयोजक) --- इस प्रकार के Conjunctions दो विकल्पों के बीच choice व्यक्त करते हैं। जैसे --

(i) Do or die 
करो या मरो।

(ii) Neither Karan nor Arjun came here.
न तो करन न ही अर्जुन यहाँ आया।

(iii) work hard otherwise you will fail.
कठिन परिश्रम करो अन्यथा अनुत्तीर्ण हो जाओगे।

(iv) Either come in time or do not come at all.
या तो समय पर आओ या आओ ही न।

(D) illative Conjunctions (परिणाम बताने वाले संयोजक) --- इस प्रकार के Conjunctions एक वाक्य को उस वाक्य से जोड़ते हैं, जो परिणाम बताता है। जैसे --

(i) He was late, therefore he was punished.
वह विलम्ब से आया था इसलिए उसे दण्डित किया गया।

(ii) She is tired, so she should take rest.
वह थकी हुई है इसलिए उसे आराम करना चाहिए।

(iii) There is someone at the door, for I have just heard a knock.
दरवाजे पर कोई है क्योकिं मैंने अभी-अभी खटखटाहत सुनी है।

(2). Sub-ordinating Conjunction

एक दुसरे पर आश्रित रहने वाले उपवाक्यों को जो Conjunctions जोड़ता है, वह Sub-ordinating Conjunction कहलाता है।
जैसे --
(i).  He cannot walk because he is weak.
(ii). We know that God is Almighty.

उपर्युक्त वाक्यों में bold वाले शब्द Sub-ordinating Conjunctions हैं। इन वाक्यों को अलग-अलग उपवाक्यों में विभाजित करने पर एक Principal Clause बनेगा तथा दुसरा Subordinate clause जैसे --

Principal Clause         Subordinate Clause
He cannot walk             because he is weak.
We know                        that God is Almighty.

Use of Sub-ordinating Conjunctions

इसमे बने Clause को Sub-ordinating Clause कहते हैं। अपने अर्थ को स्पष्ट करने के लिए इस प्रकार के उपवाक्यों (Clauses) को अन्य उपवाक्यों पर निर्भर रहना पड़ता है।
Sub-ordinating Conjunctions निम्न प्रयोग में आते है।

(a) समय (Time) का भाव व्यक्त करने के लीए,
जैसे -- I shall complete my work before I go to bed.

(b) कारण (Reason) का भाव व्यक्त करने के लिए,
जैसे -- The child is crying because he is not well.

(c) परिणाम (Result) का भाव व्यक्त करने के लिए,
जैसे -- He is so weak that he cannot walk.

(d) शर्त (Condition) का भाव व्यक्त करने के लिए,
जैसे -- If you come, I shall teach you.

(e) Concession का भाव व्यक्त करने के लिए,
जैसे -- Although I am tired yet I can help you.

(f) तुलना (Comparison) का भाव व्यक्त करने के लिए,
जैसे -- we speak faster than write.

Note -- कुछ Conjunctions जोड़ो में प्रयोग किए जाते हैं;
जैसे --
Either-or  ---  Either take it or leave it.
Neither-nor  ---  It is neither useful nor ornamental.
Both-and  --- We both love and honour him.
Though-yet  ---  Thought he is suffering much pain, yet he does not complain.
Whether-or  ---  I do not care whether you go or stay.
Not only-but also  ---  He is not only foolish but also obstinate.

Conclusion

आज के इस आर्टिकल में हमने Conjunction In Hindi को विस्तारपूर्वक समझा। हमने Conjunction से जुड़े कई सारे प्रश्नों को यहाँ पढ़ा जैसे की Conjunction definition in hindi, Conjunction types in hindi और इसके examples (उदारहण)। जैसा की आपको पता है की Conjunction पार्ट्स ऑफ़ स्पीच का भाग (part) है। वैसे ही पार्ट्स ऑफ़ स्पीच के और भी अन्य भाग है जिनपर हमने पहले से विस्तारपूर्वक आर्टिकल लिखे है आप उन सभी को भी जरुर पढ़े।
▪︎ Noun
▪︎ Pronoun
▪︎ Adjective
▪︎ Adverb

हमे उमीद है की इस आर्टिकल में दी गई जानकारी से आपको Conjunction In Hindi को समझने में काफी मदद मिली होगी। यदि आपके मन में कोई प्रश्न है तो आप हमें नीचे कमेंट में पुछ सकते है, और ये आर्टिकल आपको कैसा लगा अपना सुझाव भी हमारे साथ शेयर जरुर करे। इस आर्टिकल को आप अपने मित्रो के साथ सोशल मीडिया के जरिए शेयर करना न भूले।

Present Tense (वर्तमान काल)

0 Response to "Conjunction In Hindi | Definition | Types & Examples"

Post a Comment