वेब डिज़ाइनर कैसे बने ? Web designer kaise bane

Web designer kaise bane

Web designing क्या होता है (Web designer kaise bane)

दोस्तों जैसा की आप सब जानते है, आज के इस बदलते समय में पूरी दुनिया पर internet का राज चल रहा है। जितनी तरह का व्यापार या कारोबार चल रहा है,उसे दुनिया के सामने लाने के लिए लोग web का इस्तेमाल कर रहे है।

इस digital युग में सभी organization और व्यापारियों को अपने product को दुनिया भर में लोगो तक पहुंचाने के लिए,प्रचारित करने के लिए promote या बेचने के लिए Internet में अपनी पहचान बना के रखना बहुत ही जरूरी हो गया है, पहले के समय में ये काम केवल बड़ी कम्पनी ही किया करती थी, लेकिन अब छोटी छोटी companies भी अपने product के services और sales को बड़ाने के लिए web या website का प्रयोग कर रही है। अब internet सिर्फ समान देने का ही काम नहीं करता बल्कि लोग इसे अपने स्किल को विकसित करने के लिए भी internet का प्रयोग करते है। और इसके लिए सबसे जरूरी होता है एक website का होना, जिसके जरिए लोगो तक अपनी बात को आसानी से पहुचाई जा सके।

इसके बाद अब बात आती है, की website को चलाने के लिए आखिर कर उसे बनाया कैसे जाता है और उसे कौन बनाता है, तो दोस्तो आज हम इसी के बारे में बात करेंगे की website कौन बनाता है। तो दोस्तो जो website का निर्माण करता है या जो उसे बनाता है उसे हम website designer कहते है। एक website designer के पास computer से जुड़े वह सारे स्किल होते है जिसके जरिए वो website developing के कार्य को आसानी से कर पाता है। अगर आप भी उन लोगो में से है जो web designer बनना चाहते है। तो हमारे द्वारा नीचे दिए गए सारी जानकारी को जरूर पढ़े।


Web designer क्या होता है

दोस्तों जैसा की हम पहले ही जानते है, website बनाने की प्रक्रिया ही web designing कहलाती है, और जो इस प्रक्रिया को पूरा करता है उसे हम webstie designer कहते है। एक web designer website बनाने के साथ साथ web based software और database भी तैयार करता है तथा domain hosting Management का कार्य भी उसी के द्वारा होता है। दोस्तों कोई भी website बनाने के लिए सबसे ज्यादा जिस की जरूरत पड़ती है, उसे coding कहा जाता है।

एक website में कोई भी कार्य जैसे google के सर्च engine पर शुरू से लेकर आपके result के अंत तक के सारे process coding के द्वारा ही पूरा कराया जाता है,जिसमे website के कार्य करने से लेकर वह कैसा दिखता है,ये सारी चीजे coding में शामिल होती है। इस coding के portion को web designer ही तैयार करता है।एक web designer अपने website को इस प्रकार से तैयार करता है, की जो भी इस website पर एक बार जाए वह बार बार जाना चाहे जैसे उस website के page layouts से लेकर content तक सारी चीजे बहुत अच्छे से desine की जाती है। अगर आप इसमें करियर बनाना चाहते है तो,आपके अंदर creativity का होना बेहद जरूरी है। तो चालिए अब इसके बाद हम जानते है web designing में होने वाले वह दो important  development के बारे में।

Type of Web designer in hindi (web designer ke prakar)

(1). Front end development
(2). Back end development

1). Front end development

दोस्तों हम बात कर रहे है Front end development की जिसका काम होता है user को front में सारी चीजे आसानी से दिखाई देना। जिसे हम साधारण भासा में user interaction भी कहते है इसमें website का desing और कुछ programing language भी सामिल होते है,जैसे. HTML, CSS, JAVA SCIRPT ETC. website के desing के लिए हम front end development को ही जिम्मेदार मानते है। कोई भी user website पर जो कुछ भी देखता है या अनुभव करता है।वह website के front end development के बारे में कम और interface के बारे में ज्यादा होता है। Front end designer बिना किसी back end development के कोई भी site बना सकता है। जो कोई भी site बिना back end development के use से बनता है।उसे static site कहते है,और यह site किसी भी डाटा को database में store करने का कार्य नही करता है।

2). Back end development

दोस्तों back end development यूजर को दिखाई नहीं देता है।और इसमें website की सारी coding सामिल होती है,जो website को रन करने में मदद करती है, back end development में website की data उसके database में store होती है और उसको manage करता है।यह website का सबसे रेयर हिस्सा होता है। Back end development ज्यादा करके security structure,content management के लिए जिम्मेदार होता है। इस development की जरूरत हमे dynimic site बनाने के लिए होती है। Dynimic site वह site होता है जिनका content हमेशा बदलता रहता है।dynimc site को संभवत रूप से कार्य कराने के लिए हमे  website की जरूरत पड़ती है। किसी भी website ko बनाने के लिए दो लोगो की जरूरत पड़ती है।web designer and web developer लेकिन हम बात कर रहे है, Web designer की तो back end development में कार्य करने वाला web designer होता है।

Web designer banane ke liye Skill

इसके बाद हम बात करते है, की एक web designer बनने के लिए आपके अंदर कौन कौन से skill होने चाहिए Web designing में एक अच्छा career बनाने के लिए आपके अंदर creativity और अपने काम के प्रति रुचि होना बेहद जरूरी होना चाहिये। Creativity के साथ साथ आपके अंदर imagination का गुड़ भी होना चाहिए, एक web designer को website designing में काम आने वाली हर तकनीकी का पता होना बेहद जरूरी होता है। जिसके लिए आपके पास computer से जुड़े ज्ञान जैसे.. HTML, CSS, और JAVA SCIRPT का ज्ञान होना चाहिए, website बनाने के लिए जिन software tools का प्रयोग होता है जैसे.. photoshope इत्यादि का भी ज्ञान होना चाहिए। इसके साथ ही इस बात का ध्यान जरूर रखें की आपके website में किसी अन्य website का design, styel या content कॉपी न हो, अन्यथा इसके वजह से आपके website में copyright की समस्या हो सकती है।

web designer kaise bane (वेब डिज़ाइनर कैसे बने)

दोस्तों web designer वह होता है, जो computer के विभिन्य language की मदद से और अपनी skill से एक बेहतरीन website designe करता है। वह यह निश्चित करता है,की website बनने के बाद वह कैसे open होगा वह कैसे दिखेगा और कितनी जल्दी site खुलेगा, और page कितना resposible रहेगा। यह सब चीजे website designing के अंर्तगत शामिल होता है। एक website बनाने के लिए सबसे पहले हमे उससे जुड़े skill सीखना होगा, जब हम किसी नए चीज के बारे में सिखते है या सीखना चाहते है, तो हमे सबसे पहले basic से शुरू करना होता है, तो इसके लिए हमे programing language जैसे.. HTML, CSS, JAVA SCIRPT से जुड़े coding सीखने होते है। फिर इसी के साथ साथ photoshop software का भी इस्तेमाल करना सीखना  होगा। Web designing को अच्छे से अच्छे तरीके से सीखने के लिए आप web designing का course भी कर सकते है। इसी से जुड़े course को करने के बाद आपकी पकड़ और अच्छी जो जायेगी और आप इसे और अच्छे तरीके से कर पाएंगे।

Web designer बनने के लिए qualification

दोस्तों एक बेहतर web designer बनने के लिए आपके पास HTML, CSS, JAVA SCIRPT जैसी.. language का ज्ञान होना बेहद जरूरी होता है जैसा की मैंने पहले ही बताया है, अगर आपके पास coding और scripting का अच्छा ज्ञान है, तो आप इस क्षेत्र में बहुत आगे जा सकते है। Web designing या developing के क्षेत्र में कोई विषेश योग्यता की जरूरत नहीं होती, अगर आपके अंदर web designer बनने की इच्छा है, तो आप 12th के बाद आप इसकी शुरुआत कर के इस क्षेत्र में जा सकते हैं।

Web designing Course के बारे मे जानकारी

Web designing करने के लिए कई सारे course उपलब्ध है, जैसे degree, diploma certificate courses जिन्हें पूरा करने के लिए आप कोई भी अच्छा से collage join कर सकते है। इन courses में आपको coding से जुड़े ज्ञान जैसे, HTLM, CSS, JAVA SCIRPT, Adobe Photoshop web hosting and SEO का भरपूर Knowladge प्रदान कराया जाता है। अगर इन diploma courses की अवधि की बात करे तो ये 1 से 2 वर्ष का होता हैं, इस कोर्स में आपको बहुत से software पर काम करने के तरीके सिखाए जाते है। जिससे आपकी web designing की skill को impovement होने में काफ़ी सहायता मिलती ही। इसी के साथ इसमें जो degree course होता है वह 3 साल का होता है। Diploma courses करके आप web designing से जुड़े केवल besic चीजे ही जान सकते है। और degree course करके आप इससे जुड़े advance Knowladge को भी  प्राप्त कर सकते है। जिसके वजह से आप अलग अलग feild में job पाने के काबिल बन जायेगे।
इसके अलावा कई short time के course भी होते है, जिनकी अवधि महीनो से साल तक की होती है।जिसे आप किसी भी मान्यता प्राप्त institution से कर सकते है।

Web designing courses के नाम

दोस्तों जैसा की मैंने पहले ही कहा है की web designer बनने की लिए कोई खास योग्यता की जरूरत नहीं होती है, लेकिन अगर आप किसी कॉलेज या संस्था से इससे जुड़ा कोई कोर्स कर लेते है तो आपको अपने आप को इस क्षेत्र में perfect कैसे बनाना है। यह पता चल जाता है, क्योंकि एक website बनाने का मतलब केवल content और image को दिखाने के लिए webpage बनाना ही नहीं बल्कि इसमें हमे website निर्माण करने के frequent भी जानना होता है। फिर गहरे अध्यन और विचार के बाद website बनाने की योग्यता बनानी पड़ती है। Web designing से जुड़े बहुत सारे courses होते है, जिनका नाम नीचे दिया गया है।

Batchelor degree courses

  • b.sc in animation and web designing.
  • b.sc in graphics and web designing.
  • b.sc in VFX and web designing.
  • b.sc in multimedia and web designing etc.

Post graduate courses

  • m.sc in multimedia and web designing.
  • m.sc in animation and web designing.
  • PG diploma in web designing.
  • Advanced diploma in web designing.
  • PG certificate in web designing.

Diploma courses

  • diploma in Web designing.
  • diploma in animation and web designing.
  • diploma in graphics and web designing.
  • diploma in web development.
  • diploma in web designing and internet technology.

Certificate courses

  • certificate in web designing.
  • certificate in web and graphic design.
  • certificate in web designing and animation
  • certificate in web designing and internet technology
  • certificate in HTLM CSS and HPH.
  • certificate in web development.
  • certificate in web designing and digital marketing.

Web designing में career

दोस्तों जैसा की आप सब जानते है, जमाना digital हो रहा है ऐसे में एक web designer की market मे बहुत ज्यादा जरूरत है और साथ में बहुत सारे job scope भी है, web designer का course करने के बाद आप किसी organization's या किसी कंपनी में बतौर Application developer, graphics designer web content manager, Web designer and seo specialist etc. जैसे position पर काम कर सकते है। इसके अलावा आपको किसी web designing company में आराम से नौकरी मिल सकती है, इसी के साथ आप चाहे हो अपनी खुद की free lancing भी कर सकते है, लेकिन free lancing को करने से पहले आप इसमें ज्यादा experience जरूर ले ताकि कोई परेशानी न हों।

Web developer की salary कितनी होती है

दोस्तो जहा सेलरी की बात आती है वहा experience matter करती है। किसी भी काम को शुरुआत में करने में आपको कोई बहुत बड़ी मात्रा में सेलरी provide नही कराता पर फिर भी अगर मैं इसमें मिलने वाले औसतन वेतन की बात करू तो आपको 15 हजार से 20 हजार तक मिल जाते है। और जिस प्रकार से आपका अनुभव बढ़ता है उसी प्रकार से आपकी वेतन भी बढ़ जाती है। जो बाद में लाखो तक भी जा सकती है।

Conclusion निष्कर्ष

आज के आर्टिकल मे हमने web designer kaise bane, web designer kya hota hai के बारे में पूर्ण रूप से जाना हमे उमीद है आपको इस आर्टिकल की मदद से वेब डिज़ाइनर कैसे बने के बारे मे अच्छी जानकारी मिली होगी अगर आपके मन मे कोई सवाल हो तो आप हमे कमेंट करके पुछ सकते है और ये आर्टिकल आपको कैसा लगा ये भी हमे कमेंट के माध्यम से जरुर बताए और इस आर्टिकल को अपने मित्रो के साथ शेयर जरुर करे।

0 Response to "वेब डिज़ाइनर कैसे बने ? Web designer kaise bane"

Post a Comment