Jivan parichay in hindi (जिवन परिचय)

जीवनी किसे कहते हैं

किसी भी व्यक्ति के जीवन से संबंधित तमाम घटनाओं, उल्लेखनीय तथ्यों एवं ध्यान देने योग्य प्रसंगों का क्रमबद्ध एवं प्रामाणिक लेखन, जीवनी लेखन कहलाता है। अति साधारण व्यक्ति का भी जीवन-चरित लिखा जा सकता है, परन्तु व्यावहारिक रूप में इसका संबंध किसी महापुरुष से संबंधित होता है। ऐसे व्यक्ति-विशेष की जीवनी के रोचक प्रसंगों से औसत लोगों को प्रेरणा मिलती है। इसके लिए उपयुक्त व्यक्ति ऐतिहासिक, साहित्यिक, धार्मिक, राजनीतिक या वैज्ञानिक हो सकते हैं।

जीवनी-लेखन के लिए आवश्यक निर्देश 

1) --- व्यक्ति से संबंधित अधिक-से-अधिक जानकारी प्राप्त करें
2) --- उसके जीवन से संबद्ध घटनाओं का क्रमबद्ध संकलन करें।
3) --- उस व्यक्ति के साथ तटस्थ-भाव रखें।
4) --- विभिन्न घटनाओं एवं प्रसंगों को सहज भाषा में लिखें।
5) --- विवरणों को उचित रूप में अंकित करें।
6) --- किसी भी तरह की अतिशयोक्ति का व्यवहार न करें।
7) --- व्यक्ति के जन्म से लेकर मृत्यु तक की घटनाओं को अपने ढंग से प्रस्तुत करें।

hindi Jivan parichay (जिवन परिचय)


0 Response to "Jivan parichay in hindi (जिवन परिचय)"

Post a Comment